सोमवार, 5 अगस्त 2019

प्रस्तावना व प्रमुख सवैधानिक अनुच्छेद


https://gkave.blogspot.com/2019/08/blog-post_72.html

भारतीय संविधान की पस्तावनाभारत के प्रमुख संवैधानिक अनुच्छेद और 
अनुसूचियों को निरुपित किया जाता है 

प्रस्तावना 
  1. प्रस्तावना संविधान के लिए एक परिचय के रूप में है
  2. संविधान की प्रस्तावना को संविधान की कुंजी कहा जाता है | हम भारत के लोग, भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व-सम्पन्न
  3. हम भारत के लोग, भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व-सम्पन्न
  4. , समाजवादी पन्थ -निरपेक्ष,
  5. लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा उसके समस्त नगरिकों को सामाजिक, आर्थिक, और राजनैतिक
  6. के लिए तथा उसके समस्त नगरिकों को सामाजिक, आर्थिक, और राजनैतिक
  7. न्याय, विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता,
  8. प्रतिष्ठा और अवसर की समता प्राप्त करने के लिए तथा उन सब में व्यक्ति की गरिमा और
  9. उन सब में व्यक्ति की गरिमा और
  10. राष्ट्र की एकता और अखण्डता सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढ़ाने के लिए
  11. दृढ संकल्प होकर अपनी इस संविधान सभा में आज तारीख 26 नवम्बर 1949
  12. (मिति मार्गशीर्ष शुक्ला सप्तमी, संवत दो हजार छह विकर्मी) को एतद द्वारा इस संविधान को अंगीकृत अधिनियमित और आत्मार्पित करते है |
  13. 42 वें संविधन संशोधन (1976) द्वारा इसमें समाजवादी, धर्मनिरपेक्षता
  14. और अखण्डता शब्द जोड़े गए |





भारत के प्रमुख संवैधानिक अनुच्छेद




भाग व अनुच्छेद                           प्रावधान 
 भाग 1 
 अनुच्छेद 1                       संघ का नाम और राज्य क्षेत्र 
 भाग 2 
 अनुच्छेद 5-11                  नागरिकता प्रावधान 
 भाग 3 
 अनुच्छेद 12-35               मौलिक अधिकारों का प्रावधान 
 भाग 4 
 अनुच्छेद 36-51              राज्य के निति निर्देशक तत्व 
 भाग 4 (A )
 अनुच्छेद 51 (क)            मौलिक कर्तव्य 
भाग 5 
अनुच्छेद 52-73             भारत के राष्ट्रपति एवं उपराष्ट्रपति का संगठन व कार्यक्षेत्र 
अनुच्छेद 79                   संसद का गठन 
अनुच्छेद 80                   राजयसभा का गठन 
अनुच्छेद 81                  लोकसभा का गठन 
अनुच्छेद 123               अध्यादेश जारी करने का अधिकार (राष्ट्रपति)
अनुच्छेद 124               सर्वोच्च न्यायालय की स्थापना 
भाग 6 
अनुच्छेद 125-162        राजयपाल की नियुक्ति व अधिकार 
अनुच्छेद 163-164          राज्य की मंत्रिपरिषद 
भाग 9 
अनुच्छेद 243-243(ण)   पंचायतीराज का गठन व् इसके अन्य उपबन्ध 
भाग 9(क)
अनुच्छेद 243(ट ) से       नगरपालिका व इसके अन्य उपबंध  
243(यछ:)  
भाग 11
अनुच्छेद 248               अवशिष्ट विधायी शक्तिया 
भाग 12 
अनुच्छेद  266              भारत और राज्यों की संचित निधिया 
अनुच्छेद 267               आकस्मिक निधिया 
अनुच्छेद 280              वित्त आयोग का गठन 
 अनुच्छेद  281            वित्त आयोग के गठन की सिफारिश 
भाग 14 
 अनुच्छेद  312             अखिल भारतीय सेवाए 
 अनुच्छेद  315           संघ  एवं रज्य लोकसेवा आयोग का गठन 
 अनुच्छेद  320           संघ लोक सेवा आयोग के कार्य 
भाग 15 
 अनुच्छेद  324           भारत का निर्वाचन आयोग 
भाग 16 
 अनुच्छेद  330         लोकसभा में अनुसूचित जाती और जनजाति के लिए आरक्षण 
 अनुच्छेद  331           लोकसभा में आंग्ल भारतीय समुदाय का प्रतिनिधित्व 
 अनुच्छेद  332         राज्य विधानसभा में अनुसूचित जाती व जनजाति के लिए आरक्षण 
 अनुच्छेद  333        राज्य विधानसभा में आंग्ल भारतीय  समुदाय का प्रतिनिधत्व 
भाग 17 
 अनुच्छेद  343-351     संघ की भाषा प्रादेशिक भाषाओ उच्चतम एवं उच्च न्यायालयों की                                         
                                                 भाषा के सम्बन्ध में प्रावधान  
भाग 18 
   अनुच्छेद  352-360        आपातकालीन उपबन्ध 
भाग 19 
  अनुच्छेद  368           संविधान में संशोधन करने की संसद की शक्ति व प्रक्रिया 
भाग 20 
  अनुच्छेद  370            जम्मू-कश्मीर राज्य के सम्बन्ध में अस्थायी उपबन्ध 




भारतीय संविधान की अनुसूचियाँ




प्रथम अनुसूची भारतीय संघ के राज्यो (29) व संघ शासित (7 )




द्वितीय अनुसूची भारतीय राज्यव्यवस्था, पदाधिकारीओ को प्राप्त वेतन, पेंशन, भत्ते आदि




तृतीय अनुसूची पदाधिकारियों द्वारा शपत ग्रहण




चौथी अनुसूची राज्यों तथा संघियो क्षेत्रों की राजयसभा में प्रतिनिधित्व का विवरण




पांचवी अनुसूची अनुसूचित जाती/जनजाति के प्रशासन व नियंत्रण का उल्लेख




छठी अनुसूचियाँ असम, मेघलय, त्रिपुरा और मिजोरम के जनजाति के क्षेत्रों में प्रशासन का उल्लेख




सातवीं अनुसूची केन्द्र व राज्यों में शक्ति के बटवारे, इसके अन्तर्गत तीन सूचियाँ है, संघ सूची, राज्य सूची, व समवर्ती सूची




                        संघ सूची         संविधान के लागु होने के समय 97 विषय थे वर्तमान में इसमे
                                                98   विषय है आयुध, समाचार पत्रों के क्रय-विक्रय तथा उन
                                                उनके विज्ञापन पर कर 
                        राज्य सूची           संविधान के लागु होने समय इसके 66विषय थे, वर्तमान 
                                                  में 62 विषय   है 
                         समवर्ती सूची     संविधान के लागु होने के समय समवर्ती में 47 विषय थे , 
                                                 वर्तमान समय में 52 विषय है दण्डविधि, विवाह व विवाह विच्छेद , 
वन, शिक्षा विधि वृति, चिकित्सा, जनसंख्या नियंत्रण एवं परिवार नियोजन,
 जन्म एवं मृत्यु का पंजीकरण, बाट और माप, विद्युत आदि 
                                  








आठवीं अनुसूची इसमें भारत की 22 भाषाओ का उल्लेख है




नौवीं अनुसूची संविधान में यह अनुसूची प्रथम संविधान संशोधन अधिनियम 1951 द्वारा जोड़ी गई |




इसमें राज्य द्वारा संपत्ति के अधिग्रहण की विधियो का उल्लेख है




दसवीं अनुसूची 52 वें संविधान संशोधन 1985 द्वारा जोड़ी गई,दलबदल से संबन्धित प्रावधान




ग्यारहवीं अनुसूची यह अनुसूची संविधान में 73 वें संवैधानिक (1993) द्वारा जोड़ी गई,




इसमें पंचायती राज संस्थाओ को कार्य करने के लिए 29 विषय दिए




बारहवीं अनुसूची यह अनिसुची संविधान में 74 वें संवैधानिक संशोधन (1993 )द्वारा जोड़ी गई ,




इसमें शहरी क्षेत्र की स्थानीय स्वशासन संस्थाओ को कार्य करने के लिए 18 विषय दिए









0 comments:

एक टिप्पणी भेजें